उत्तराखंड में बीते तीन दिनों से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। उत्तराखंड में चोटियों पर बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में वर्षा व ओलावृष्टि का क्रम जारी है। जिससे जनवरी जैसी ठंड का अहसास हो रहा है।  राज्य के अधिकांश जनपदों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी मौसम विभाग ने दी है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से उत्तराखंड में वर्षा, ओलावृष्टि व बर्फबारी का दौर 24 मार्च तक बने रहने की संभावना है।

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से उत्तराखंड के ज्यादातर इलाकों में वर्षा और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। उत्तराखंड में चोटियों पर बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में वर्षा व ओलावृष्टि का क्रम जारी है। गढ़वाल मंडल के लगभग सभी इलाकों में मंगलवार को बारिश का दौर जारी है। आज भी राजधानी देहरादून सहित राज्य के अधिकांश जनपदों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी मौसम विभाग ने दी है। मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि उत्तराखंड राज्य के कुमाऊं और गढ़वाल मंडल के अधिकांश स्थलों पर गर्जन के साथ हल्की से मध्यम बारिश और ओलावृष्टि हो सकती है। साथ ही ऊंचाई वालें इलाकों में बर्फबारी की संंभावना है। दून में भी गरज के साथ बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है। तापमान में और गिरावट होने की संभावना है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस और 10 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। समूचे कुमाऊं मंडल में निचले इलाकों में वर्षा व ऊंची चोटियों पर हिमपात हो रहा है। मसूरी में दिन के समय करीब तीन घंटे वर्षा होने और देहरादून में बूंदाबांदी होने से राजधानी के तापमान में छह डिग्री सेल्सियस की कमी दर्ज की गई।