नोएड़ा से अपने प्रेमी के साथ नैनीताल बर्थ डे मनाने पहुंची दीक्षा का 15 अगस्त की देर रात हत्या कर दी गई थी, और उसका प्रेमी ऋषभ तिवारी उर्फ इमरान वहां से फरार हो गया था। हत्याकांड के दो दिन बाद पुलिस को दीक्षा के प्रेमी को पकड़ने में सफलता मिली है। पुलिस इमरान जो कि नाम बदलकर ऋषभ तिवारी अपनी पहचान बताता था को गाजियाबाद से पकडकर नैनीताल ले आई है। उसके पास से हुंडई आई 20, मृतका दीक्षा का मोबाईल और अन्य कागजात भी पुलिस ने बरामद किए हैं।

फ़िलहाल अभी पुलिस स्टेशन में  इमरान से पूछताछ की जा रही है। जिले की एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी दोपहर 3 बजे के करीब प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले से पर्दा उठाएंगी। गौरतलब है कि 14 अगस्त को चार लोग नोएडा से नैनीताल के गैलेक्जी होम स्टे में दो रूम बुक करवा कर ठहरे थे, दीक्षा का जन्मदिन 15 अगस्त को इन चारों ने मनाया, उसी रात दीक्षा की हत्या कर दी गई।

वर्ष 2008 में दीक्षा की शादी खुरजा निवासी पवन शर्मा के साथ हुई थी। वहां शराब पीकर मारपीट करता था। शादी के दो साल बाद ही दीक्षा पति से अलग रहने लगी। तभी उसकी मुलाकात ऋषभ तिवारी उर्फ इमरान से हुई थी। बेटी भी दीक्षा के साथ ही रहती है। फिलहाल दोनों का तलाक नहीं हुआ है। मामला कोर्ट में लंबित है।

मंगलवार को नैनीताल पहुंचे मृतका के परिजन और दोस्त पंचनामा के बाद मोर्चरी में शव के पहुंचते ही मृतका की मां, भाई और साथ में पहुंचे दोस्त फूट-फूटकर रोने लगे। दीक्षा मिश्रा की दोस्त सीमा शर्मा ने बताया कि दो महीने पहले ही गौतमबुद्धनगर क्षेत्र में अपना नया फ्लैट खरीदा था। एक नई स्विफ्ट गाड़ी भी खरीदी थी। गाड़ी का नंबर नहीं आने के कारण वह कार्यालय में तैनात किसी एक दोस्त की कार लेकर नैनीताल पहुंची थी। ऋषभ उसी वाहन को लेकर फरार हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here