यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के 154 नागरिक, उत्तराखंड सरकार ने पहली लिस्ट विदेश मंत्रालय को भेजी

Spread the love

आज कहीं न कहीं पूरा विश्व यूक्रेन और रूस के युद्ध से प्रभावित हो रहा है जिसके चलते उत्तराखंड भी प्रभावित हुआ है और ख़बरों के अनुसार यूक्रेन में उत्तराखंड के 154 नागरिकों के फंसे होने की सुचना मिली है। जिसमे सबसे अधिक 39 देहरादून जिले के हैं इसके अलावा ऊधमसिंह नगर के 20, टिहरी जिले के 10, अल्मोड़ा से एक, चमोली से दो, चंपावत से चार, पिथौरागढ़ से दो उत्तरकाशी से सात, पौड़ी गढ़वाल से 13, हरिद्वार से 26, रुद्रप्रयाग से पांच, नैनीताल से 22 नागरिकों के यूक्रेन में फंसे होने की सूचना मिली है।

अपर सचिव गृह रिद्धिम अग्रवाल ने बताया कि “हेल्पलाइन नंबर 112 पर अब तक 154 नागरिकों की फंसे होने की सूचना मिली है। अपर सचिव गृह ने अपील की है कि उत्तराखंड के नागरिक जो विभिन्न कार्यों से यूक्रेन में निवासरत हैं, उनके स्वजन चिंतित व भयभीत न हों। अफवाहों पर बिल्कुल भी ध्यान न दें।”
सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। यूक्रेन में फंसे देहरादून के छात्रों के लिए जिला प्रशासन ने हेल्पलाइन शुरू की है।अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) केके मिश्रा ने बताया कि रूस व यूक्रेन के युद्ध के चलते विकट हुए हालात में उत्तराखंड के नागरिक वतन लौट पाने में असमर्थ हो गए हैं। ऐसे में यूक्रेन में फंसे व्यक्ति 01352726066, 1077 (टोल-फ्री) व 7534826066 पर फोन कर नाम, यूक्रेन में पता, मोबाइल नंबर आदि का विवरण दर्ज करा सकते हैं। ई-मेल से deoc.pgrc.ddn@gmail.com पर भी जानकारी भेज सकते हैं। इसके अलावा सहायता के लिए आपातकालीन नंबर 112 पर भी काल कर सकते हैं।

शुक्रवार देर शाम अपर सचिव गृह रिद्धिम अग्रवाल ने बताया कि ऐसे 154 उत्तराखंडवासियों की पहली लिस्ट केंद्र सरकार को भेज दी गई है। हालांकि राज्य के विभिन्न जिलों से कुछ और लोगों के भी यूक्रेन में फंसे होने की सूचना आ रही है। लेकिन गृह विभाग प्रमाणित नामों को ही केंद्र सरकार के पास भेज रहा है। यह संख्या बढ़नी तय है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा और भी लोगों ने अपने परिजनों के युद्धग्रस्त देश में फंसे होने की जानकारी दी है।

शासन की ओर से शुक्रवार को पुलिस उपमहानिरीक्षक कानून व्यवस्था पी रेणुका व पुलिस अधीक्षक कानून व्यवस्था प्रमोद कुमार को नोडल अधिकारी बनाया है। कोई भी व्यक्ति डीआइजी पी रेणुका के मोबाइल 7579278144 और पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार के मोबाइल नंबर 983778889 पर संपर्क कर सकते हैं।

वहीँ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के छात्रों को सकुशल भारत वापस लाने की अपील प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि यूक्रेन की स्थिति बहुत चिंताजनक है,ऐसी स्थिति में भारत के नागरिकों की सुरक्षा बहुत जरूरी है और उनको सुरक्षित स्थान पर ले जाना भारत सरकार की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। उत्तराखंड के कई सारे छात्र यूक्रेन में फंसे हुए हैं और उनके परिजन काफी चिंतित हैं, ऐसे में छात्रों के पास पैसे नहीं है और ना ही खाने पीने की पर्याप्त वस्तुएं है। भारत सरकार उनसे बातचीत कर किसी तरह वहां से छात्रों को सुरक्षित निकाला जा सके, इस पर काम करना चाहिए।

हेल्पलाइन नंबर
पी रेणुका देवी (नोडल अधिकारी) : 7579278144
प्रमोद कुमार (सहायक नोडल अधिकारी): 9837788889
आपातकालीन नंबर: 112 (टोल फ्री)
उत्तराखंड सदन : 011-26875614-15


Spread the love

3 thoughts on “यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के 154 नागरिक, उत्तराखंड सरकार ने पहली लिस्ट विदेश मंत्रालय को भेजी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *